Thursday, January 20, 2022

बेटी की निकली बारात

Must Read

बेटी की निकली बारात

मध्यप्रदेश के सतना शहर के वरिष्ठ समाजसेवी किशोर वलेचा वह नानकराम वलेचा जी की भतीजी नरेश वलेचा जी की बेटी दीपा वलेचा का शुभ विवाह राजस्थान शहर कोटा के होलसेल रेडीमेड कपड़ा व्यवसाई श्री विकास कुमार के साथ सम्पन हुई।

बेटी की बारात निकाल कर बेटे और बेटी के बीच मतभेद समाप्त करने का एक सुन्दर प्रयास जो समाज के लिए एक बेमिसाल उदाहरण है।
बिलासपुर छ.ग. के

चन्दर मंगतानी जी ने बताया कि बेटी दीपा वालेचा की बारात घोड़ी मैं बेटी को बैठाकर निकाली गई
सिंधी समाज में पहली बार बेटी की बारात धूमधाम के साथ बाजे गाजे के साथ निकाली गई
यह एक संदेश है समाज को कि बेटा और बेटी में कोई फर्क नहीं रहा गया है
दोनों एक समान हैं दोनों में खुशियां भी एक है तो फिर क्यों ना बेटी की भी बारात निकाली जाए
यह एक अच्छा व शुभ कार्य सतना शहर से हुआ है जो समाज में एक नई मिसाल पेश करेगा
और लड़का और लड़की में भेदभाव खत्म करेगा
विश्व सिंधी सेवा संगम युवा शाखा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोहर छूगानी जीने बेटी को आशीर्वाद दिया वह उज्जवल भविष्य की कामना की
वह कहा कि यह एक अच्छा संदेश है समाज के लिए बेटा बेटी एक बराबर
आइए बेटियों में फर्क खत्म करें
सिंधी समाज के सभी शहरों के लोगों ने बधाइयां दी है बेटी दीपा को इस पुनीत कार्य के लिए उनके पिता को भी बधाइयां दी है उन्होंने एक नया संदेश जो समाज को दिया है वह सराहनीय है।

*विशेष;- *बेटी की बारात निकालने वाले वलेचा परिवार को विश्व सिंधी सेवा संगम युवा शाखा करेगी सम्मानित*
*यह जानकारी विश्व सेवा संगम युवा शाखा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोहर छुगानी जी ने दी*..!!
भवदीय
विजय दुसेजा बिलासपुर से

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

More Articles Like This

बेटी की निकली बारात

मध्यप्रदेश के सतना शहर के वरिष्ठ समाजसेवी किशोर वलेचा वह नानकराम वलेचा जी की भतीजी नरेश वलेचा जी की बेटी दीपा वलेचा का शुभ विवाह राजस्थान शहर कोटा के होलसेल रेडीमेड कपड़ा व्यवसाई श्री विकास कुमार के साथ सम्पन हुई।

बेटी की बारात निकाल कर बेटे और बेटी के बीच मतभेद समाप्त करने का एक सुन्दर प्रयास जो समाज के लिए एक बेमिसाल उदाहरण है।
बिलासपुर छ.ग. के

चन्दर मंगतानी जी ने बताया कि बेटी दीपा वालेचा की बारात घोड़ी मैं बेटी को बैठाकर निकाली गई
सिंधी समाज में पहली बार बेटी की बारात धूमधाम के साथ बाजे गाजे के साथ निकाली गई
यह एक संदेश है समाज को कि बेटा और बेटी में कोई फर्क नहीं रहा गया है
दोनों एक समान हैं दोनों में खुशियां भी एक है तो फिर क्यों ना बेटी की भी बारात निकाली जाए
यह एक अच्छा व शुभ कार्य सतना शहर से हुआ है जो समाज में एक नई मिसाल पेश करेगा
और लड़का और लड़की में भेदभाव खत्म करेगा
विश्व सिंधी सेवा संगम युवा शाखा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोहर छूगानी जीने बेटी को आशीर्वाद दिया वह उज्जवल भविष्य की कामना की
वह कहा कि यह एक अच्छा संदेश है समाज के लिए बेटा बेटी एक बराबर
आइए बेटियों में फर्क खत्म करें
सिंधी समाज के सभी शहरों के लोगों ने बधाइयां दी है बेटी दीपा को इस पुनीत कार्य के लिए उनके पिता को भी बधाइयां दी है उन्होंने एक नया संदेश जो समाज को दिया है वह सराहनीय है।

*विशेष;- *बेटी की बारात निकालने वाले वलेचा परिवार को विश्व सिंधी सेवा संगम युवा शाखा करेगी सम्मानित*
*यह जानकारी विश्व सेवा संगम युवा शाखा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोहर छुगानी जी ने दी*..!!
भवदीय
विजय दुसेजा बिलासपुर से