Friday, April 16, 2021

सर्वधर्म सेवा समिति के द्वारा शाही चादर गस्त कराई गई

Must Read

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके और मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की उपस्थिति में प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के संबंध मे वर्चुअल रूप से...

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके और मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की उपस्थिति में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के प्रसार की...

कलेक्टर ने तैयारियो का लिया जायजा तत्काल सेवा शुरू करने के दिए निर्देश

डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में 50 आक्सीजन बेड और बढ़ाया जा रहा है’डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में 50 आक्सीजन बेड और...

मौत के साये में गुरूजी न सुविधा, न सुरक्षा कोविड टीकाकरण कार्य

मौत के साये में गुरूजी न सुविधा, न सुरक्षा कोविड टीकाकरण कार्य राकेश खरे,बिलासपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश संयुक्त शिक्षक संघ के कार्यकारी...

सर्वधर्म सेवा समिति के द्वारा शाही चादर गस्त कराई गईछत्तीसगढ़ प्रदेश के बिलासपुर शहर की एक सद्भभावना एकता आपसी भाईचारा कायम रखने व बढ़ाने के लिए विगत 10 वर्ष पहले एक संस्था बनाई गई इसका नाम रखा गया सर्व धर्म सेवा समितियह संस्था अपने नाम के अनुसार विगत 10 वर्षों से कार्य कर रही है सभी धर्मों का सम्मान करना वह आपसी भाईचारा और प्यार को कायम करना आगे बढ़ाना इस संस्था का कार्य है वह बखूबी निभा रही है इस संस्था के संस्थापक वह अध्यक्ष रामचंद्र हिरवानी ने बताया कि पिछले 10 वर्षों से सभी धर्मों के जो भी आयोजन होते हैं या शोभायात्रा निकलती है उनका सर्व धर्म सेवा समिति के द्वारा स्वागत किया जाता है सत्कार किया जाता हैवह सबसे लंबी चादर निकालने का रिकॉर्ड भी सर्वधर्म सेवा समिति के ही नाम है यह बिलासपुर वह हमारे लिए बहुत खुश किस्मत की बात है हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी भारत देश के अलग-अलग प्रदेशों के अलग-अलग शहरों के अलग-अलग दरगाह में सर्व धर्म समिति के द्वारा बिलासपुर की जनता की ओर से चादर पेश की जाती है पूरे विश्व के कल्याण के लिए दुआ मांगी जाती हैइस वर्ष भी कम समय होने के बावजूद भी सर्व धर्म सेवा समिति के द्वारा 10 शाही संदल चादर बनाई गई जिसको 19 फरवरी को शाम 6:00 बजे गांधी चौक से विधि विधान के साथ पूजा अर्चना करके गश्त कराई गई चादर के सबसे आगे सफेद घोड़े जो सफेद रंग शांति के प्रतीक हैं वह आगे चल रहे थे उसके बाद बैंड बाजा उसके पीछे रामचंद्र के द्वारा पांच निशान लेकर चल रहे थे उसके पीछे 10 सही चादर समिति के सदस्य लेकर चल रहे थे गांधी चौक से निकलकर जूना बिलासपुर हटरी चौक मनोहर टॉकीज श्याम टॉकीज गोल बाजार सदर बाजार सिम्स चौक से होते हुए पुलिस ग्राउंड पहुंचेइस चादर का जगह-जगह आतिशबाजी के साथ फूलों की वर्षा के साथ स्वागत किया गया जगह जगह शरबत पुलाव खिचड़ी का प्रसाद वितरण किया गया
इस चादर को समिति के सदस्यों के द्वारा कुछ दिनों के बाद बिलासपुर रेल मार्ग के द्वारा ले जाकर देश के अलग-अलग शहरों के दरगाह में पेश की जाएगी
इनमें प्रमुख हैं दिल्ली अजमेर फुलेरा राजस्थान गुजरात अहमदाबाद उन्नाव नागपुर बिलासपुर शहर की दरगाह में पेश की जाएगीइस पूरे आयोजन को सफल बनाने में संस्था के अध्यक्ष राम हिरवानी सचिव विजय दुसेजा उपाध्यक्ष मास्टर भाई कोषाध्यक्ष कालू हिरवानी कोषाध्यक्ष प्रदीप भाई एवं अन्य सदस्य नानकराम नागदेव मुकेश भाई विष्णु भाई शंकर भाई श्याम हरियानी रमेश मोटवानी गोविंद दूसेजा मम्मी खान शिव यादव रमेश भाई आरिफ भाई कालू रजक शब्बीर भाई बाबा भाई इशाद भाई जावेद भाई राम कुमार भाई एवं कई लोगोंभवदीय
विजय दुसेजा बिलासपुर से

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

More Articles Like This

सर्वधर्म सेवा समिति के द्वारा शाही चादर गस्त कराई गईछत्तीसगढ़ प्रदेश के बिलासपुर शहर की एक सद्भभावना एकता आपसी भाईचारा कायम रखने व बढ़ाने के लिए विगत 10 वर्ष पहले एक संस्था बनाई गई इसका नाम रखा गया सर्व धर्म सेवा समितियह संस्था अपने नाम के अनुसार विगत 10 वर्षों से कार्य कर रही है सभी धर्मों का सम्मान करना वह आपसी भाईचारा और प्यार को कायम करना आगे बढ़ाना इस संस्था का कार्य है वह बखूबी निभा रही है इस संस्था के संस्थापक वह अध्यक्ष रामचंद्र हिरवानी ने बताया कि पिछले 10 वर्षों से सभी धर्मों के जो भी आयोजन होते हैं या शोभायात्रा निकलती है उनका सर्व धर्म सेवा समिति के द्वारा स्वागत किया जाता है सत्कार किया जाता हैवह सबसे लंबी चादर निकालने का रिकॉर्ड भी सर्वधर्म सेवा समिति के ही नाम है यह बिलासपुर वह हमारे लिए बहुत खुश किस्मत की बात है हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी भारत देश के अलग-अलग प्रदेशों के अलग-अलग शहरों के अलग-अलग दरगाह में सर्व धर्म समिति के द्वारा बिलासपुर की जनता की ओर से चादर पेश की जाती है पूरे विश्व के कल्याण के लिए दुआ मांगी जाती हैइस वर्ष भी कम समय होने के बावजूद भी सर्व धर्म सेवा समिति के द्वारा 10 शाही संदल चादर बनाई गई जिसको 19 फरवरी को शाम 6:00 बजे गांधी चौक से विधि विधान के साथ पूजा अर्चना करके गश्त कराई गई चादर के सबसे आगे सफेद घोड़े जो सफेद रंग शांति के प्रतीक हैं वह आगे चल रहे थे उसके बाद बैंड बाजा उसके पीछे रामचंद्र के द्वारा पांच निशान लेकर चल रहे थे उसके पीछे 10 सही चादर समिति के सदस्य लेकर चल रहे थे गांधी चौक से निकलकर जूना बिलासपुर हटरी चौक मनोहर टॉकीज श्याम टॉकीज गोल बाजार सदर बाजार सिम्स चौक से होते हुए पुलिस ग्राउंड पहुंचेइस चादर का जगह-जगह आतिशबाजी के साथ फूलों की वर्षा के साथ स्वागत किया गया जगह जगह शरबत पुलाव खिचड़ी का प्रसाद वितरण किया गया
इस चादर को समिति के सदस्यों के द्वारा कुछ दिनों के बाद बिलासपुर रेल मार्ग के द्वारा ले जाकर देश के अलग-अलग शहरों के दरगाह में पेश की जाएगी
इनमें प्रमुख हैं दिल्ली अजमेर फुलेरा राजस्थान गुजरात अहमदाबाद उन्नाव नागपुर बिलासपुर शहर की दरगाह में पेश की जाएगीइस पूरे आयोजन को सफल बनाने में संस्था के अध्यक्ष राम हिरवानी सचिव विजय दुसेजा उपाध्यक्ष मास्टर भाई कोषाध्यक्ष कालू हिरवानी कोषाध्यक्ष प्रदीप भाई एवं अन्य सदस्य नानकराम नागदेव मुकेश भाई विष्णु भाई शंकर भाई श्याम हरियानी रमेश मोटवानी गोविंद दूसेजा मम्मी खान शिव यादव रमेश भाई आरिफ भाई कालू रजक शब्बीर भाई बाबा भाई इशाद भाई जावेद भाई राम कुमार भाई एवं कई लोगोंभवदीय
विजय दुसेजा बिलासपुर से