Friday, April 16, 2021

शहर ग्रामीण  कांग्रेस कमेटी ने क्रांतिकारी शहीद चन्द्रशेखर आज़ाद की पुण्यतिथि मनाईं गई

Must Read

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके और मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की उपस्थिति में प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के संबंध मे वर्चुअल रूप से...

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके और मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की उपस्थिति में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के प्रसार की...

कलेक्टर ने तैयारियो का लिया जायजा तत्काल सेवा शुरू करने के दिए निर्देश

डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में 50 आक्सीजन बेड और बढ़ाया जा रहा है’डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में 50 आक्सीजन बेड और...

मौत के साये में गुरूजी न सुविधा, न सुरक्षा कोविड टीकाकरण कार्य

मौत के साये में गुरूजी न सुविधा, न सुरक्षा कोविड टीकाकरण कार्य राकेश खरे,बिलासपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश संयुक्त शिक्षक संघ के कार्यकारी...

शहर ग्रामीण कांग्रेस कमेटी ने क्रांतिकारी शहीद चन्द्रशेखर आज़ाद की पुण्यतिथि मनाईं गई

ज़िला शहर ग्रामीण कांग्रेस कमेटी ने क्रांतिकारी शहीद चन्द्रशेखर आज़ाद की पुण्यतिथि और अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व श्यामाचरण शुक्ल की जयंती कांग्रेस भवन में मनाई

और उनकी छायाचित्र माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित की ।

इस अवसर पर पंडित हरीश तिवारी ,सैय्यद ज़फ़र अली ने कहा कि पंडित श्यामाचरण शुक्ल कृषि आधारित अर्थ व्यवस्था के पक्षधर थे ,

विकास तभी सम्भव है जब किसान समृध्द होगा ,उन्होंने नहर और बैराज बहुतायत बनाया, शुक्ल जहां गांव की विकास चाहते थे वही व्यवस्थित शहर विकसित करना भी चाहते थे

उन्होंने ही टाउन प्लानिंग लागू किया,अधुनिक वेशभूषा ,बीटेक की शिक्षा होने के बाद भी पंडित जी छत्तीसगढ़ी परम्परा से जुड़े हुए थे

एस एल रात्रे ,चन्द्र प्रकाश देवरस ने कहा कि गांधी जी द्वारा अचानक असहयोग आंदोलन को वापस लेने के कारण युवाओ में प्रतिकूल प्रभाव पड़ा ,

वे मायूस हो गए और शांति -अहिंसा के मार्ग को छोड़कर क्रांति की ओर चल पड़े ,यद्यपि क्रांतिकारी काल लम्बा नही रहा पर अंग्रेजो के मन मे भय पैदा करने में सफल रहे ,

चन्द्र शेखर आज़ाद भी क्रांतिकारियों के प्रमुख स्तम्भ थे ,जिन्होंने काकोरी कांड, सॉन्डर्स हत्या,

और दिल्ली असेम्बली बम कांड में प्रमुख भूमिका निभाई ,दुर्भग्यवश 27 फरवरी 1931 को अल्फ्रेड गॉर्डन इलाहाबाद में अंग्रेज सैनिको से घिर जाने के कारण स्वयं को गोली मारकर शहीद हो गए ।

विनोद साहू, विनोद शर्मा, त्रिभुवन कश्यप,माधव ओत्तालवार,ज़वेद मेमन,रामप्रसाद साहू राजेश शर्मा,सुभाष ठाकुर,भरत जुर्यनी, दीपक कौशिक,रामचन्द्र क्षत्री,संतोष पिपलवार,मनोज शर्मा,सरिता शर्मा,किरण कश्यप,अफरोज खान,रीता मजूमदार,प्रशांत पांडेय,अजय तिवारी,अमृत आनन्द,करम गोरख,उमेश वर्मा,विकास दुबे,चेतन दास, अजय साहू,अजय काले,सूर्यकांत साहू,आशीष,पुनाराम कश्यप,राजकुमार यादव,मुकेश धनगाय,शम्मी सहगल, अजय पन्त । ऋषि पांडेय ,प्रवक्ता बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

More Articles Like This

शहर ग्रामीण कांग्रेस कमेटी ने क्रांतिकारी शहीद चन्द्रशेखर आज़ाद की पुण्यतिथि मनाईं गई

ज़िला शहर ग्रामीण कांग्रेस कमेटी ने क्रांतिकारी शहीद चन्द्रशेखर आज़ाद की पुण्यतिथि और अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व श्यामाचरण शुक्ल की जयंती कांग्रेस भवन में मनाई

और उनकी छायाचित्र माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित की ।

इस अवसर पर पंडित हरीश तिवारी ,सैय्यद ज़फ़र अली ने कहा कि पंडित श्यामाचरण शुक्ल कृषि आधारित अर्थ व्यवस्था के पक्षधर थे ,

विकास तभी सम्भव है जब किसान समृध्द होगा ,उन्होंने नहर और बैराज बहुतायत बनाया, शुक्ल जहां गांव की विकास चाहते थे वही व्यवस्थित शहर विकसित करना भी चाहते थे

उन्होंने ही टाउन प्लानिंग लागू किया,अधुनिक वेशभूषा ,बीटेक की शिक्षा होने के बाद भी पंडित जी छत्तीसगढ़ी परम्परा से जुड़े हुए थे

एस एल रात्रे ,चन्द्र प्रकाश देवरस ने कहा कि गांधी जी द्वारा अचानक असहयोग आंदोलन को वापस लेने के कारण युवाओ में प्रतिकूल प्रभाव पड़ा ,

वे मायूस हो गए और शांति -अहिंसा के मार्ग को छोड़कर क्रांति की ओर चल पड़े ,यद्यपि क्रांतिकारी काल लम्बा नही रहा पर अंग्रेजो के मन मे भय पैदा करने में सफल रहे ,

चन्द्र शेखर आज़ाद भी क्रांतिकारियों के प्रमुख स्तम्भ थे ,जिन्होंने काकोरी कांड, सॉन्डर्स हत्या,

और दिल्ली असेम्बली बम कांड में प्रमुख भूमिका निभाई ,दुर्भग्यवश 27 फरवरी 1931 को अल्फ्रेड गॉर्डन इलाहाबाद में अंग्रेज सैनिको से घिर जाने के कारण स्वयं को गोली मारकर शहीद हो गए ।

विनोद साहू, विनोद शर्मा, त्रिभुवन कश्यप,माधव ओत्तालवार,ज़वेद मेमन,रामप्रसाद साहू राजेश शर्मा,सुभाष ठाकुर,भरत जुर्यनी, दीपक कौशिक,रामचन्द्र क्षत्री,संतोष पिपलवार,मनोज शर्मा,सरिता शर्मा,किरण कश्यप,अफरोज खान,रीता मजूमदार,प्रशांत पांडेय,अजय तिवारी,अमृत आनन्द,करम गोरख,उमेश वर्मा,विकास दुबे,चेतन दास, अजय साहू,अजय काले,सूर्यकांत साहू,आशीष,पुनाराम कश्यप,राजकुमार यादव,मुकेश धनगाय,शम्मी सहगल, अजय पन्त । ऋषि पांडेय ,प्रवक्ता बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे