धान खरीदी में समस्या से त्रस्त विधायक संग धरने पर बैठे किसान

Must Read

समस्या को लेकर मुख्य मार्ग पर अनिश्चितकालीन धरना

13-दिसंबर,2020

जांजगीर-चांपा {सवितर्क न्यूज़}
जिला जांजगीर चांपा क्षेत्र के जैजैपुर विकासखंड में ग्राम पंचायत कचंदा और ग्राम पंचायत बेलादुला के किसानों के साथ जैजैपुर विधानसभा के किसानों के हितैषी विधायक केशव प्रसाद चंद्रा धान खरीदी की समस्या को लेकर जैजैपुर में हसौद बाराद्वार मुख्य मार्ग पर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे है।मामला इस प्रकार है कि जैजैपुर क्षेत्र के ग्राम कचन्दा के धान खरीदी केन्द्र को लगभग दो वर्ष पूर्व हुए लगभग एक करोड़ रुपये की लागत की धान घोटाले के कारण खरीदी केन्द्र में खरीदी बंद कर दिये जाने के कारण ग्राम पंचायत बेलादुला और कचन्दा के किसानों को काफ़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है जिसके विरोध में आज जैजैपुर के कचन्दा मोड़ में सैकड़ों किसानों द्वारा अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन किया जा रहा है जिसके समर्थन में क्षेत्र के विधायक केशव प्रसाद चन्द्रा सहित अन्य जनप्रतिनिधी भी कड़ी धूप में जैजैपुर-बाराद्वार मुख्यमार्ग पर बैठे रहे।मामले की स्थिति की जानकारी पर जैजैपुर थाना प्रभारी तेज कुमार यादव ।
अनुविभागिय अधिकारी सक्ति, भास्कर सिंह मरकाम । एस डी ओ पी सक्ति शोभराज अग्रवाल।जैजैपुर तहसीलदार राम विजय शर्मा सहित आठ थाने से पुलिस बल मौके पर पहुंची जिनमें जैजैपुर, मालखरौदा,हसौद,अड़भार,सारागाँव,बाराद्वार, सक्ति ,नगरदा शामिल हैं ।इस दौरान मुख्य सड़क पर आवागमन सुबह 11 बजे से पूरे दिन भर प्रभावित रही स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पहुंचे एस डी एम ने किसानों और विधायक से धरना समाप्त करने की गुजारिश किया लेकिन किसानों ने यह कहते हुए इन्कार कर दिया कि जब तक हमारे धान की खरीदी कचन्दा धान खरीदी केन्द्र में नहीं की जाती तब तक हम यूँ ही सड़क पर बैठे रहेंगे।देर शाम 7 बजे कलेक्टर कार्यालय से किसी अधिकारी के पहुंचने पर सभी अधिकारियों ने ना जाने क्या आपसी चर्चा किया और बिना किसी किसान से मिले या आश्वासन दिये बगैर ही सभी अधिकारी वापस लौट गये जिस पर विधायक ने शासन प्रशासन के कार्यशैली पर सवाल उठाये और आगामी सोमवार को हजारों लोगों की संख्या के साथ तहसील के पास एकत्र होकर महाआन्दोलन करने का ऐलान किया इस तरह के कार्यवाही से जनता में शासन प्रशासन के खिलाफ भारी रोष व्याप्त है और ऐसे कार्यवाही से गम्भीर सवाल भी खड़ा होता है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

More Articles Like This

समस्या को लेकर मुख्य मार्ग पर अनिश्चितकालीन धरना

13-दिसंबर,2020

जांजगीर-चांपा {सवितर्क न्यूज़}
जिला जांजगीर चांपा क्षेत्र के जैजैपुर विकासखंड में ग्राम पंचायत कचंदा और ग्राम पंचायत बेलादुला के किसानों के साथ जैजैपुर विधानसभा के किसानों के हितैषी विधायक केशव प्रसाद चंद्रा धान खरीदी की समस्या को लेकर जैजैपुर में हसौद बाराद्वार मुख्य मार्ग पर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे है।मामला इस प्रकार है कि जैजैपुर क्षेत्र के ग्राम कचन्दा के धान खरीदी केन्द्र को लगभग दो वर्ष पूर्व हुए लगभग एक करोड़ रुपये की लागत की धान घोटाले के कारण खरीदी केन्द्र में खरीदी बंद कर दिये जाने के कारण ग्राम पंचायत बेलादुला और कचन्दा के किसानों को काफ़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है जिसके विरोध में आज जैजैपुर के कचन्दा मोड़ में सैकड़ों किसानों द्वारा अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन किया जा रहा है जिसके समर्थन में क्षेत्र के विधायक केशव प्रसाद चन्द्रा सहित अन्य जनप्रतिनिधी भी कड़ी धूप में जैजैपुर-बाराद्वार मुख्यमार्ग पर बैठे रहे।मामले की स्थिति की जानकारी पर जैजैपुर थाना प्रभारी तेज कुमार यादव ।
अनुविभागिय अधिकारी सक्ति, भास्कर सिंह मरकाम । एस डी ओ पी सक्ति शोभराज अग्रवाल।जैजैपुर तहसीलदार राम विजय शर्मा सहित आठ थाने से पुलिस बल मौके पर पहुंची जिनमें जैजैपुर, मालखरौदा,हसौद,अड़भार,सारागाँव,बाराद्वार, सक्ति ,नगरदा शामिल हैं ।इस दौरान मुख्य सड़क पर आवागमन सुबह 11 बजे से पूरे दिन भर प्रभावित रही स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पहुंचे एस डी एम ने किसानों और विधायक से धरना समाप्त करने की गुजारिश किया लेकिन किसानों ने यह कहते हुए इन्कार कर दिया कि जब तक हमारे धान की खरीदी कचन्दा धान खरीदी केन्द्र में नहीं की जाती तब तक हम यूँ ही सड़क पर बैठे रहेंगे।देर शाम 7 बजे कलेक्टर कार्यालय से किसी अधिकारी के पहुंचने पर सभी अधिकारियों ने ना जाने क्या आपसी चर्चा किया और बिना किसी किसान से मिले या आश्वासन दिये बगैर ही सभी अधिकारी वापस लौट गये जिस पर विधायक ने शासन प्रशासन के कार्यशैली पर सवाल उठाये और आगामी सोमवार को हजारों लोगों की संख्या के साथ तहसील के पास एकत्र होकर महाआन्दोलन करने का ऐलान किया इस तरह के कार्यवाही से जनता में शासन प्रशासन के खिलाफ भारी रोष व्याप्त है और ऐसे कार्यवाही से गम्भीर सवाल भी खड़ा होता है ।