Friday, April 16, 2021

बिलासपुर जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न सड़क दुर्घटनाओं के कारणों को पहचान कर जरूरी उपाय हेतु लिया गया निर्णय

Must Read

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके और मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की उपस्थिति में प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के संबंध मे वर्चुअल रूप से...

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके और मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की उपस्थिति में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के प्रसार की...

कलेक्टर ने तैयारियो का लिया जायजा तत्काल सेवा शुरू करने के दिए निर्देश

डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में 50 आक्सीजन बेड और बढ़ाया जा रहा है’डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में 50 आक्सीजन बेड और...

मौत के साये में गुरूजी न सुविधा, न सुरक्षा कोविड टीकाकरण कार्य

मौत के साये में गुरूजी न सुविधा, न सुरक्षा कोविड टीकाकरण कार्य राकेश खरे,बिलासपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश संयुक्त शिक्षक संघ के कार्यकारी...

जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न
सड़क दुर्घटनाओं के कारणों को पहचान कर जरूरी उपाय हेतु लिया गया निर्णय
बिलासपुर 29 दिसम्बर 2020। जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आज कलेक्टर डाॅ.सारांश मित्तर की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। बैठक में सड़क दुर्घटनाओं के कारणों की पहचान कर जरूरी उपायों हेतु निर्णय लिये गये।

मंथन सभाकक्ष में आयोजित बैठक में जिले में सड़क सुरक्षा क्रियाकलापों की जानकारी देते हुए नगर निगम आयुक्त ने बताया कि सुगम यातायात एवं दुर्घटना में कमी लाने के लिये आवारा मवेशियों पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। निगम में उपलब्ध पांच काउ केचर से आवारा मवेशियों को लाकर मोपका गौठान में रखा जाता है। जुलाई से अब तक 18 हजार से अधिक जुर्माना मवेशी मालिकों से वसूल किया गया है। उन्होंने बताया कि सिरगिट्टी में भी गौठान बनाया जा रहा है, जहां उस क्षेत्र के आवारा मवेशियों को रखा जाएगा। मस्तूरी के विधायक डाॅ.कृष्णमूर्ति बांधी ने सड़क में घूमने वाले आवारा मवेशियों की टैगिंग कराने का सुझाव दिया। सड़क दुर्घटना को रोकने के लिये 57 जगहों पर जेब्रा क्रासिंग, 14 जगहों पर डिवाईडर निर्माण और 16 जगहों पर खुले डिवाईडर को बंद किया जाएगा। नर्मदा नगर चैक, अपोलो चैक और मगरपारा चैक में सड़क मार्किंग और टैªफिक सिग्नल लगाये जायेंगे।

बैठक में पीडब्ल्यूडी के अधिकारी ने बताया कि छतौना मोड़ पर ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित कर वहां चैड़ीकरण कराया गया है और एयरपोर्ट मार्ग मंे मोड़ पर बिजली के खंभे शिफ्टिंग के बाद चैड़ीकरण किया जाएगा। कलेक्टर ने बिजली विभाग के अधिकारी को खंभा शिफ्टिंग तत्काल करने के निर्देश दिये। सदस्यों द्वारा बिल्हा के पास बिलासपुर प्रवेश मार्ग को व्यवस्थित करने के संबंध में ध्यान आकृष्ट कराया गया। कलेक्टर ने इस पर शीघ्र कार्यवाही करने की बात कही।
सड़क दुर्घटना की स्थिति में पुलिस द्वारा एकत्र किये जाने वाले 59 बिंदुओं की जानकारी यातायात विभाग के द्वारा प्रस्तुत की गयी। माह जनवरी से अब तक 820 दुर्घटनाएं हुई है। जिनमें 262 व्यक्तियों की मृत्यु और 649 घायल हुए हैं। इस वर्ष जनवरी से अगस्त तक 16 ड्राईविंग लायसेंस निलंबित किया गया है। लाॅकडाउन की वजह से इस वर्ष दुर्घटनाओं में कमी हुई है। विधायक डाॅ.बांधी ने मस्तूरी क्षेत्र में सड़क दुर्घटना को रोकने के लिये विभिन्न सुझाव दिये। बैठक में यातायात जागरूकता पर जोर दिया गया। कलेक्टर ने जनप्रतिनिधियों को शामिल करते हुए यातायात जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिये। मंगला चैक में स्थापित पुलिस चैकी को स्थानांतरित करने के लिये जल्द कार्यवाही करने कहा गया। बिलासपुर से चकरभाठा एयरपोर्ट का रास्ता चकरभाठा बस्ती से होकर जाता है, जिसमें यातायात का दबाव ज्यादा है इसलिये एयरपोर्ट तक निर्बाध यातायात के लिये बाईपास हेतु प्रस्ताव भेजने का सुझाव सदस्यों ने दिया।
बैठक में बताया गया कि केन्द्रीय सड़क सुरक्षा समिति के मापदण्ड के अनुसार इस वर्ष जिले में नौ ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित किये गये हैं। मस्तूरी थाना अंतर्गत एनएच-49 में जयरामनगर मोड़ ग्राम मोहतरा, चकरभाठा थाना अंतर्गत एनएच-130 चैथना मोड़, सिरगिट्टी थाना अंतर्गत एनएच-130 में तिफरा ओवरब्रिज, रतनपुर थाना अंतर्गत एनएच-130ए में सकरी बाईपास और सांझीपारा बाईपास, सरकंडा थाना अंतर्गत एमडीआर मार्ग में महामाया चैक, मोपका चैक और बहतराई चैक में ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित है, जिनकी सतत् निगरानी एवं माॅनिटरिंग की जा रही है। इन स्थानों पर जहां दुर्घटना रोकने के लिये लोक निर्माण विभाग द्वारा कार्यवाही जारी है। छात्रों को आॅनलाईन पढ़ाई के साथ-साथ यातायात जागरूकता का प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। चिकित्सा विभाग द्वारा सड़क दुर्घटना में गंभीर घायलों के इलाज के लिये सिम्स में ट्रामा सेंटर स्थापित है। कलेक्टर ने बताया कि कोनी के निर्माणाधीन अस्पताल में भी नया ट्रामा सेंटर बनाया जा रहा है।
बैठक में कलेक्टर द्वारा सभी सड़क निर्माण से जुड़े विभागों को सड़क सुरक्षा मानकों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये। बिलासपुर से रायपुर मार्ग में गौरव पथ की ओर तथा व्यापार विहार परिक्षेत्र की ओर दो नये फ्लाईओवर की आवश्यकता का आंकलन कर शासन को प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया। सदर बाजार, गोल बाजार क्षेत्र में अत्यधिक यातायात दबाव को देखते हुए इन स्थानों में जुलूस, रैली आदि को प्रतिबंधित किये जाने की आवश्यकता बताई गई। कलेक्टर ने कहा कि इन क्षेत्रों में जुलूस, रैली आदि के आयोजन को हतोत्साहित किया जाएगा।
जिले में सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति की मदद और त्वरित चिकित्सा उपलब्ध कराने वाले 79 नेक व्यक्तियों (गुड सेमेरिटन) को सम्मानित किया गया है। कलेक्टर ने इस कार्य की सराहना की और आगे इसे सतत् जारी रखने के निर्देश दिये। सीपत मार्ग में ग्राम पंचायत लगरा में स्थापित यातायात पार्क के संचालन पर चर्चा की गयी और पार्क के रख-रखाव के लिये नगर निगम को जिम्मेदारी देने का सुझाव दिया गया।
बैठक में नगर निगम के महापौर श्री रामशरण यादव, मस्तूरी विधायक डाॅ.कृष्णमूर्ति बांधी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अरूण सिंह चैहान, बिल्हा एवं बेलतरा केेे विधायक प्रतिनिधि, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह ठाकुर, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री बी.एस.उईके, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात श्री रोहित बघेल, आरटीओ श्री प्रेमप्रकाश शर्मा, सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारी सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
क्रमांक 1017/अग्रवालजिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न
सड़क दुर्घटनाओं के कारणों को पहचान कर जरूरी उपाय हेतु लिया गया निर्णय
बिलासपुर 29 दिसम्बर 2020। जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आज कलेक्टर डाॅ.सारांश मित्तर की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। बैठक में सड़क दुर्घटनाओं के कारणों की पहचान कर जरूरी उपायों हेतु निर्णय लिये गये।
मंथन सभाकक्ष में आयोजित बैठक में जिले में सड़क सुरक्षा क्रियाकलापों की जानकारी देते हुए नगर निगम आयुक्त ने बताया कि सुगम यातायात एवं दुर्घटना में कमी लाने के लिये आवारा मवेशियों पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। निगम में उपलब्ध पांच काउ केचर से आवारा मवेशियों को लाकर मोपका गौठान में रखा जाता है। जुलाई से अब तक 18 हजार से अधिक जुर्माना मवेशी मालिकों से वसूल किया गया है। उन्होंने बताया कि सिरगिट्टी में भी गौठान बनाया जा रहा है, जहां उस क्षेत्र के आवारा मवेशियों को रखा जाएगा। मस्तूरी के विधायक डाॅ.कृष्णमूर्ति बांधी ने सड़क में घूमने वाले आवारा मवेशियों की टैगिंग कराने का सुझाव दिया। सड़क दुर्घटना को रोकने के लिये 57 जगहों पर जेब्रा क्रासिंग, 14 जगहों पर डिवाईडर निर्माण और 16 जगहों पर खुले डिवाईडर को बंद किया जाएगा। नर्मदा नगर चैक, अपोलो चैक और मगरपारा चैक में सड़क मार्किंग और टैªफिक सिग्नल लगाये जायेंगे।
बैठक में पीडब्ल्यूडी के अधिकारी ने बताया कि छतौना मोड़ पर ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित कर वहां चैड़ीकरण कराया गया है और एयरपोर्ट मार्ग मंे मोड़ पर बिजली के खंभे शिफ्टिंग के बाद चैड़ीकरण किया जाएगा। कलेक्टर ने बिजली विभाग के अधिकारी को खंभा शिफ्टिंग तत्काल करने के निर्देश दिये। सदस्यों द्वारा बिल्हा के पास बिलासपुर प्रवेश मार्ग को व्यवस्थित करने के संबंध में ध्यान आकृष्ट कराया गया। कलेक्टर ने इस पर शीघ्र कार्यवाही करने की बात कही।
सड़क दुर्घटना की स्थिति में पुलिस द्वारा एकत्र किये जाने वाले 59 बिंदुओं की जानकारी यातायात विभाग के द्वारा प्रस्तुत की गयी। माह जनवरी से अब तक 820 दुर्घटनाएं हुई है। जिनमें 262 व्यक्तियों की मृत्यु और 649 घायल हुए हैं। इस वर्ष जनवरी से अगस्त तक 16 ड्राईविंग लायसेंस निलंबित किया गया है। लाॅकडाउन की वजह से इस वर्ष दुर्घटनाओं में कमी हुई है। विधायक डाॅ.बांधी ने मस्तूरी क्षेत्र में सड़क दुर्घटना को रोकने के लिये विभिन्न सुझाव दिये। बैठक में यातायात जागरूकता पर जोर दिया गया। कलेक्टर ने जनप्रतिनिधियों को शामिल करते हुए यातायात जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिये। मंगला चैक में स्थापित पुलिस चैकी को स्थानांतरित करने के लिये जल्द कार्यवाही करने कहा गया। बिलासपुर से चकरभाठा एयरपोर्ट का रास्ता चकरभाठा बस्ती से होकर जाता है, जिसमें यातायात का दबाव ज्यादा है इसलिये एयरपोर्ट तक निर्बाध यातायात के लिये बाईपास हेतु प्रस्ताव भेजने का सुझाव सदस्यों ने दिया।
बैठक में बताया गया कि केन्द्रीय सड़क सुरक्षा समिति के मापदण्ड के अनुसार इस वर्ष जिले में नौ ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित किये गये हैं। मस्तूरी थाना अंतर्गत एनएच-49 में जयरामनगर मोड़ ग्राम मोहतरा, चकरभाठा थाना अंतर्गत एनएच-130 चैथना मोड़, सिरगिट्टी थाना अंतर्गत एनएच-130 में तिफरा ओवरब्रिज, रतनपुर थाना अंतर्गत एनएच-130ए में सकरी बाईपास और सांझीपारा बाईपास, सरकंडा थाना अंतर्गत एमडीआर मार्ग में महामाया चैक, मोपका चैक और बहतराई चैक में ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित है, जिनकी सतत् निगरानी एवं माॅनिटरिंग की जा रही है। इन स्थानों पर जहां दुर्घटना रोकने के लिये लोक निर्माण विभाग द्वारा कार्यवाही जारी है। छात्रों को आॅनलाईन पढ़ाई के साथ-साथ यातायात जागरूकता का प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। चिकित्सा विभाग द्वारा सड़क दुर्घटना में गंभीर घायलों के इलाज के लिये सिम्स में ट्रामा सेंटर स्थापित है। कलेक्टर ने बताया कि कोनी के निर्माणाधीन अस्पताल में भी नया ट्रामा सेंटर बनाया जा रहा है।
बैठक में कलेक्टर द्वारा सभी सड़क निर्माण से जुड़े विभागों को सड़क सुरक्षा मानकों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये। बिलासपुर से रायपुर मार्ग में गौरव पथ की ओर तथा व्यापार विहार परिक्षेत्र की ओर दो नये फ्लाईओवर की आवश्यकता का आंकलन कर शासन को प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया। सदर बाजार, गोल बाजार क्षेत्र में अत्यधिक यातायात दबाव को देखते हुए इन स्थानों में जुलूस, रैली आदि को प्रतिबंधित किये जाने की आवश्यकता बताई गई। कलेक्टर ने कहा कि इन क्षेत्रों में जुलूस, रैली आदि के आयोजन को हतोत्साहित किया जाएगा।
जिले में सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति की मदद और त्वरित चिकित्सा उपलब्ध कराने वाले 79 नेक व्यक्तियों (गुड सेमेरिटन) को सम्मानित किया गया है। कलेक्टर ने इस कार्य की सराहना की और आगे इसे सतत् जारी रखने के निर्देश दिये। सीपत मार्ग में ग्राम पंचायत लगरा में स्थापित यातायात पार्क के संचालन पर चर्चा की गयी और पार्क के रख-रखाव के लिये नगर निगम को जिम्मेदारी देने का सुझाव दिया गया।
बैठक में नगर निगम के महापौर श्री रामशरण यादव, मस्तूरी विधायक डाॅ.कृष्णमूर्ति बांधी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अरूण सिंह चैहान, बिल्हा एवं बेलतरा केेे विधायक प्रतिनिधि, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह ठाकुर, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री बी.एस.उईके, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात श्री रोहित बघेल, आरटीओ श्री प्रेमप्रकाश शर्मा, सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारी सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
क्रमांक 1017/अग्रवालजिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न
सड़क दुर्घटनाओं के कारणों को पहचान कर जरूरी उपाय हेतु लिया गया निर्णय
बिलासपुर 29 दिसम्बर 2020। जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आज कलेक्टर डाॅ.सारांश मित्तर की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। बैठक में सड़क दुर्घटनाओं के कारणों की पहचान कर जरूरी उपायों हेतु निर्णय लिये गये।
मंथन सभाकक्ष में आयोजित बैठक में जिले में सड़क सुरक्षा क्रियाकलापों की जानकारी देते हुए नगर निगम आयुक्त ने बताया कि सुगम यातायात एवं दुर्घटना में कमी लाने के लिये आवारा मवेशियों पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। निगम में उपलब्ध पांच काउ केचर से आवारा मवेशियों को लाकर मोपका गौठान में रखा जाता है। जुलाई से अब तक 18 हजार से अधिक जुर्माना मवेशी मालिकों से वसूल किया गया है। उन्होंने बताया कि सिरगिट्टी में भी गौठान बनाया जा रहा है, जहां उस क्षेत्र के आवारा मवेशियों को रखा जाएगा। मस्तूरी के विधायक डाॅ.कृष्णमूर्ति बांधी ने सड़क में घूमने वाले आवारा मवेशियों की टैगिंग कराने का सुझाव दिया। सड़क दुर्घटना को रोकने के लिये 57 जगहों पर जेब्रा क्रासिंग, 14 जगहों पर डिवाईडर निर्माण और 16 जगहों पर खुले डिवाईडर को बंद किया जाएगा। नर्मदा नगर चैक, अपोलो चैक और मगरपारा चैक में सड़क मार्किंग और टैªफिक सिग्नल लगाये जायेंगे।
बैठक में पीडब्ल्यूडी के अधिकारी ने बताया कि छतौना मोड़ पर ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित कर वहां चैड़ीकरण कराया गया है और एयरपोर्ट मार्ग मंे मोड़ पर बिजली के खंभे शिफ्टिंग के बाद चैड़ीकरण किया जाएगा। कलेक्टर ने बिजली विभाग के अधिकारी को खंभा शिफ्टिंग तत्काल करने के निर्देश दिये। सदस्यों द्वारा बिल्हा के पास बिलासपुर प्रवेश मार्ग को व्यवस्थित करने के संबंध में ध्यान आकृष्ट कराया गया। कलेक्टर ने इस पर शीघ्र कार्यवाही करने की बात कही।
सड़क दुर्घटना की स्थिति में पुलिस द्वारा एकत्र किये जाने वाले 59 बिंदुओं की जानकारी यातायात विभाग के द्वारा प्रस्तुत की गयी। माह जनवरी से अब तक 820 दुर्घटनाएं हुई है। जिनमें 262 व्यक्तियों की मृत्यु और 649 घायल हुए हैं। इस वर्ष जनवरी से अगस्त तक 16 ड्राईविंग लायसेंस निलंबित किया गया है। लाॅकडाउन की वजह से इस वर्ष दुर्घटनाओं में कमी हुई है। विधायक डाॅ.बांधी ने मस्तूरी क्षेत्र में सड़क दुर्घटना को रोकने के लिये विभिन्न सुझाव दिये। बैठक में यातायात जागरूकता पर जोर दिया गया। कलेक्टर ने जनप्रतिनिधियों को शामिल करते हुए यातायात जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिये। मंगला चैक में स्थापित पुलिस चैकी को स्थानांतरित करने के लिये जल्द कार्यवाही करने कहा गया। बिलासपुर से चकरभाठा एयरपोर्ट का रास्ता चकरभाठा बस्ती से होकर जाता है, जिसमें यातायात का दबाव ज्यादा है इसलिये एयरपोर्ट तक निर्बाध यातायात के लिये बाईपास हेतु प्रस्ताव भेजने का सुझाव सदस्यों ने दिया।
बैठक में बताया गया कि केन्द्रीय सड़क सुरक्षा समिति के मापदण्ड के अनुसार इस वर्ष जिले में नौ ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित किये गये हैं। मस्तूरी थाना अंतर्गत एनएच-49 में जयरामनगर मोड़ ग्राम मोहतरा, चकरभाठा थाना अंतर्गत एनएच-130 चैथना मोड़, सिरगिट्टी थाना अंतर्गत एनएच-130 में तिफरा ओवरब्रिज, रतनपुर थाना अंतर्गत एनएच-130ए में सकरी बाईपास और सांझीपारा बाईपास, सरकंडा थाना अंतर्गत एमडीआर मार्ग में महामाया चैक, मोपका चैक और बहतराई चैक में ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित है, जिनकी सतत् निगरानी एवं माॅनिटरिंग की जा रही है। इन स्थानों पर जहां दुर्घटना रोकने के लिये लोक निर्माण विभाग द्वारा कार्यवाही जारी है। छात्रों को आॅनलाईन पढ़ाई के साथ-साथ यातायात जागरूकता का प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। चिकित्सा विभाग द्वारा सड़क दुर्घटना में गंभीर घायलों के इलाज के लिये सिम्स में ट्रामा सेंटर स्थापित है। कलेक्टर ने बताया कि कोनी के निर्माणाधीन अस्पताल में भी नया ट्रामा सेंटर बनाया जा रहा है।
बैठक में कलेक्टर द्वारा सभी सड़क निर्माण से जुड़े विभागों को सड़क सुरक्षा मानकों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये। बिलासपुर से रायपुर मार्ग में गौरव पथ की ओर तथा व्यापार विहार परिक्षेत्र की ओर दो नये फ्लाईओवर की आवश्यकता का आंकलन कर शासन को प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया। सदर बाजार, गोल बाजार क्षेत्र में अत्यधिक यातायात दबाव को देखते हुए इन स्थानों में जुलूस, रैली आदि को प्रतिबंधित किये जाने की आवश्यकता बताई गई। कलेक्टर ने कहा कि इन क्षेत्रों में जुलूस, रैली आदि के आयोजन को हतोत्साहित किया जाएगा।
जिले में सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति की मदद और त्वरित चिकित्सा उपलब्ध कराने वाले 79 नेक व्यक्तियों (गुड सेमेरिटन) को सम्मानित किया गया है। कलेक्टर ने इस कार्य की सराहना की और आगे इसे सतत् जारी रखने के निर्देश दिये। सीपत मार्ग में ग्राम पंचायत लगरा में स्थापित यातायात पार्क के संचालन पर चर्चा की गयी और पार्क के रख-रखाव के लिये नगर निगम को जिम्मेदारी देने का सुझाव दिया गया।
बैठक में नगर निगम के महापौर श्री रामशरण यादव, मस्तूरी विधायक डाॅ.कृष्णमूर्ति बांधी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अरूण सिंह चैहान, बिल्हा एवं बेलतरा केेे विधायक प्रतिनिधि, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह ठाकुर, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री बी.एस.उईके, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात श्री रोहित बघेल, आरटीओ श्री प्रेमप्रकाश शर्मा, सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारी सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

More Articles Like This

जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न
सड़क दुर्घटनाओं के कारणों को पहचान कर जरूरी उपाय हेतु लिया गया निर्णय
बिलासपुर 29 दिसम्बर 2020। जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आज कलेक्टर डाॅ.सारांश मित्तर की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। बैठक में सड़क दुर्घटनाओं के कारणों की पहचान कर जरूरी उपायों हेतु निर्णय लिये गये।

मंथन सभाकक्ष में आयोजित बैठक में जिले में सड़क सुरक्षा क्रियाकलापों की जानकारी देते हुए नगर निगम आयुक्त ने बताया कि सुगम यातायात एवं दुर्घटना में कमी लाने के लिये आवारा मवेशियों पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। निगम में उपलब्ध पांच काउ केचर से आवारा मवेशियों को लाकर मोपका गौठान में रखा जाता है। जुलाई से अब तक 18 हजार से अधिक जुर्माना मवेशी मालिकों से वसूल किया गया है। उन्होंने बताया कि सिरगिट्टी में भी गौठान बनाया जा रहा है, जहां उस क्षेत्र के आवारा मवेशियों को रखा जाएगा। मस्तूरी के विधायक डाॅ.कृष्णमूर्ति बांधी ने सड़क में घूमने वाले आवारा मवेशियों की टैगिंग कराने का सुझाव दिया। सड़क दुर्घटना को रोकने के लिये 57 जगहों पर जेब्रा क्रासिंग, 14 जगहों पर डिवाईडर निर्माण और 16 जगहों पर खुले डिवाईडर को बंद किया जाएगा। नर्मदा नगर चैक, अपोलो चैक और मगरपारा चैक में सड़क मार्किंग और टैªफिक सिग्नल लगाये जायेंगे।

बैठक में पीडब्ल्यूडी के अधिकारी ने बताया कि छतौना मोड़ पर ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित कर वहां चैड़ीकरण कराया गया है और एयरपोर्ट मार्ग मंे मोड़ पर बिजली के खंभे शिफ्टिंग के बाद चैड़ीकरण किया जाएगा। कलेक्टर ने बिजली विभाग के अधिकारी को खंभा शिफ्टिंग तत्काल करने के निर्देश दिये। सदस्यों द्वारा बिल्हा के पास बिलासपुर प्रवेश मार्ग को व्यवस्थित करने के संबंध में ध्यान आकृष्ट कराया गया। कलेक्टर ने इस पर शीघ्र कार्यवाही करने की बात कही।
सड़क दुर्घटना की स्थिति में पुलिस द्वारा एकत्र किये जाने वाले 59 बिंदुओं की जानकारी यातायात विभाग के द्वारा प्रस्तुत की गयी। माह जनवरी से अब तक 820 दुर्घटनाएं हुई है। जिनमें 262 व्यक्तियों की मृत्यु और 649 घायल हुए हैं। इस वर्ष जनवरी से अगस्त तक 16 ड्राईविंग लायसेंस निलंबित किया गया है। लाॅकडाउन की वजह से इस वर्ष दुर्घटनाओं में कमी हुई है। विधायक डाॅ.बांधी ने मस्तूरी क्षेत्र में सड़क दुर्घटना को रोकने के लिये विभिन्न सुझाव दिये। बैठक में यातायात जागरूकता पर जोर दिया गया। कलेक्टर ने जनप्रतिनिधियों को शामिल करते हुए यातायात जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिये। मंगला चैक में स्थापित पुलिस चैकी को स्थानांतरित करने के लिये जल्द कार्यवाही करने कहा गया। बिलासपुर से चकरभाठा एयरपोर्ट का रास्ता चकरभाठा बस्ती से होकर जाता है, जिसमें यातायात का दबाव ज्यादा है इसलिये एयरपोर्ट तक निर्बाध यातायात के लिये बाईपास हेतु प्रस्ताव भेजने का सुझाव सदस्यों ने दिया।
बैठक में बताया गया कि केन्द्रीय सड़क सुरक्षा समिति के मापदण्ड के अनुसार इस वर्ष जिले में नौ ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित किये गये हैं। मस्तूरी थाना अंतर्गत एनएच-49 में जयरामनगर मोड़ ग्राम मोहतरा, चकरभाठा थाना अंतर्गत एनएच-130 चैथना मोड़, सिरगिट्टी थाना अंतर्गत एनएच-130 में तिफरा ओवरब्रिज, रतनपुर थाना अंतर्गत एनएच-130ए में सकरी बाईपास और सांझीपारा बाईपास, सरकंडा थाना अंतर्गत एमडीआर मार्ग में महामाया चैक, मोपका चैक और बहतराई चैक में ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित है, जिनकी सतत् निगरानी एवं माॅनिटरिंग की जा रही है। इन स्थानों पर जहां दुर्घटना रोकने के लिये लोक निर्माण विभाग द्वारा कार्यवाही जारी है। छात्रों को आॅनलाईन पढ़ाई के साथ-साथ यातायात जागरूकता का प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। चिकित्सा विभाग द्वारा सड़क दुर्घटना में गंभीर घायलों के इलाज के लिये सिम्स में ट्रामा सेंटर स्थापित है। कलेक्टर ने बताया कि कोनी के निर्माणाधीन अस्पताल में भी नया ट्रामा सेंटर बनाया जा रहा है।
बैठक में कलेक्टर द्वारा सभी सड़क निर्माण से जुड़े विभागों को सड़क सुरक्षा मानकों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये। बिलासपुर से रायपुर मार्ग में गौरव पथ की ओर तथा व्यापार विहार परिक्षेत्र की ओर दो नये फ्लाईओवर की आवश्यकता का आंकलन कर शासन को प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया। सदर बाजार, गोल बाजार क्षेत्र में अत्यधिक यातायात दबाव को देखते हुए इन स्थानों में जुलूस, रैली आदि को प्रतिबंधित किये जाने की आवश्यकता बताई गई। कलेक्टर ने कहा कि इन क्षेत्रों में जुलूस, रैली आदि के आयोजन को हतोत्साहित किया जाएगा।
जिले में सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति की मदद और त्वरित चिकित्सा उपलब्ध कराने वाले 79 नेक व्यक्तियों (गुड सेमेरिटन) को सम्मानित किया गया है। कलेक्टर ने इस कार्य की सराहना की और आगे इसे सतत् जारी रखने के निर्देश दिये। सीपत मार्ग में ग्राम पंचायत लगरा में स्थापित यातायात पार्क के संचालन पर चर्चा की गयी और पार्क के रख-रखाव के लिये नगर निगम को जिम्मेदारी देने का सुझाव दिया गया।
बैठक में नगर निगम के महापौर श्री रामशरण यादव, मस्तूरी विधायक डाॅ.कृष्णमूर्ति बांधी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अरूण सिंह चैहान, बिल्हा एवं बेलतरा केेे विधायक प्रतिनिधि, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह ठाकुर, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री बी.एस.उईके, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात श्री रोहित बघेल, आरटीओ श्री प्रेमप्रकाश शर्मा, सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारी सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
क्रमांक 1017/अग्रवालजिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न
सड़क दुर्घटनाओं के कारणों को पहचान कर जरूरी उपाय हेतु लिया गया निर्णय
बिलासपुर 29 दिसम्बर 2020। जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आज कलेक्टर डाॅ.सारांश मित्तर की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। बैठक में सड़क दुर्घटनाओं के कारणों की पहचान कर जरूरी उपायों हेतु निर्णय लिये गये।
मंथन सभाकक्ष में आयोजित बैठक में जिले में सड़क सुरक्षा क्रियाकलापों की जानकारी देते हुए नगर निगम आयुक्त ने बताया कि सुगम यातायात एवं दुर्घटना में कमी लाने के लिये आवारा मवेशियों पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। निगम में उपलब्ध पांच काउ केचर से आवारा मवेशियों को लाकर मोपका गौठान में रखा जाता है। जुलाई से अब तक 18 हजार से अधिक जुर्माना मवेशी मालिकों से वसूल किया गया है। उन्होंने बताया कि सिरगिट्टी में भी गौठान बनाया जा रहा है, जहां उस क्षेत्र के आवारा मवेशियों को रखा जाएगा। मस्तूरी के विधायक डाॅ.कृष्णमूर्ति बांधी ने सड़क में घूमने वाले आवारा मवेशियों की टैगिंग कराने का सुझाव दिया। सड़क दुर्घटना को रोकने के लिये 57 जगहों पर जेब्रा क्रासिंग, 14 जगहों पर डिवाईडर निर्माण और 16 जगहों पर खुले डिवाईडर को बंद किया जाएगा। नर्मदा नगर चैक, अपोलो चैक और मगरपारा चैक में सड़क मार्किंग और टैªफिक सिग्नल लगाये जायेंगे।
बैठक में पीडब्ल्यूडी के अधिकारी ने बताया कि छतौना मोड़ पर ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित कर वहां चैड़ीकरण कराया गया है और एयरपोर्ट मार्ग मंे मोड़ पर बिजली के खंभे शिफ्टिंग के बाद चैड़ीकरण किया जाएगा। कलेक्टर ने बिजली विभाग के अधिकारी को खंभा शिफ्टिंग तत्काल करने के निर्देश दिये। सदस्यों द्वारा बिल्हा के पास बिलासपुर प्रवेश मार्ग को व्यवस्थित करने के संबंध में ध्यान आकृष्ट कराया गया। कलेक्टर ने इस पर शीघ्र कार्यवाही करने की बात कही।
सड़क दुर्घटना की स्थिति में पुलिस द्वारा एकत्र किये जाने वाले 59 बिंदुओं की जानकारी यातायात विभाग के द्वारा प्रस्तुत की गयी। माह जनवरी से अब तक 820 दुर्घटनाएं हुई है। जिनमें 262 व्यक्तियों की मृत्यु और 649 घायल हुए हैं। इस वर्ष जनवरी से अगस्त तक 16 ड्राईविंग लायसेंस निलंबित किया गया है। लाॅकडाउन की वजह से इस वर्ष दुर्घटनाओं में कमी हुई है। विधायक डाॅ.बांधी ने मस्तूरी क्षेत्र में सड़क दुर्घटना को रोकने के लिये विभिन्न सुझाव दिये। बैठक में यातायात जागरूकता पर जोर दिया गया। कलेक्टर ने जनप्रतिनिधियों को शामिल करते हुए यातायात जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिये। मंगला चैक में स्थापित पुलिस चैकी को स्थानांतरित करने के लिये जल्द कार्यवाही करने कहा गया। बिलासपुर से चकरभाठा एयरपोर्ट का रास्ता चकरभाठा बस्ती से होकर जाता है, जिसमें यातायात का दबाव ज्यादा है इसलिये एयरपोर्ट तक निर्बाध यातायात के लिये बाईपास हेतु प्रस्ताव भेजने का सुझाव सदस्यों ने दिया।
बैठक में बताया गया कि केन्द्रीय सड़क सुरक्षा समिति के मापदण्ड के अनुसार इस वर्ष जिले में नौ ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित किये गये हैं। मस्तूरी थाना अंतर्गत एनएच-49 में जयरामनगर मोड़ ग्राम मोहतरा, चकरभाठा थाना अंतर्गत एनएच-130 चैथना मोड़, सिरगिट्टी थाना अंतर्गत एनएच-130 में तिफरा ओवरब्रिज, रतनपुर थाना अंतर्गत एनएच-130ए में सकरी बाईपास और सांझीपारा बाईपास, सरकंडा थाना अंतर्गत एमडीआर मार्ग में महामाया चैक, मोपका चैक और बहतराई चैक में ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित है, जिनकी सतत् निगरानी एवं माॅनिटरिंग की जा रही है। इन स्थानों पर जहां दुर्घटना रोकने के लिये लोक निर्माण विभाग द्वारा कार्यवाही जारी है। छात्रों को आॅनलाईन पढ़ाई के साथ-साथ यातायात जागरूकता का प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। चिकित्सा विभाग द्वारा सड़क दुर्घटना में गंभीर घायलों के इलाज के लिये सिम्स में ट्रामा सेंटर स्थापित है। कलेक्टर ने बताया कि कोनी के निर्माणाधीन अस्पताल में भी नया ट्रामा सेंटर बनाया जा रहा है।
बैठक में कलेक्टर द्वारा सभी सड़क निर्माण से जुड़े विभागों को सड़क सुरक्षा मानकों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये। बिलासपुर से रायपुर मार्ग में गौरव पथ की ओर तथा व्यापार विहार परिक्षेत्र की ओर दो नये फ्लाईओवर की आवश्यकता का आंकलन कर शासन को प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया। सदर बाजार, गोल बाजार क्षेत्र में अत्यधिक यातायात दबाव को देखते हुए इन स्थानों में जुलूस, रैली आदि को प्रतिबंधित किये जाने की आवश्यकता बताई गई। कलेक्टर ने कहा कि इन क्षेत्रों में जुलूस, रैली आदि के आयोजन को हतोत्साहित किया जाएगा।
जिले में सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति की मदद और त्वरित चिकित्सा उपलब्ध कराने वाले 79 नेक व्यक्तियों (गुड सेमेरिटन) को सम्मानित किया गया है। कलेक्टर ने इस कार्य की सराहना की और आगे इसे सतत् जारी रखने के निर्देश दिये। सीपत मार्ग में ग्राम पंचायत लगरा में स्थापित यातायात पार्क के संचालन पर चर्चा की गयी और पार्क के रख-रखाव के लिये नगर निगम को जिम्मेदारी देने का सुझाव दिया गया।
बैठक में नगर निगम के महापौर श्री रामशरण यादव, मस्तूरी विधायक डाॅ.कृष्णमूर्ति बांधी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अरूण सिंह चैहान, बिल्हा एवं बेलतरा केेे विधायक प्रतिनिधि, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह ठाकुर, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री बी.एस.उईके, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात श्री रोहित बघेल, आरटीओ श्री प्रेमप्रकाश शर्मा, सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारी सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
क्रमांक 1017/अग्रवालजिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न
सड़क दुर्घटनाओं के कारणों को पहचान कर जरूरी उपाय हेतु लिया गया निर्णय
बिलासपुर 29 दिसम्बर 2020। जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आज कलेक्टर डाॅ.सारांश मित्तर की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। बैठक में सड़क दुर्घटनाओं के कारणों की पहचान कर जरूरी उपायों हेतु निर्णय लिये गये।
मंथन सभाकक्ष में आयोजित बैठक में जिले में सड़क सुरक्षा क्रियाकलापों की जानकारी देते हुए नगर निगम आयुक्त ने बताया कि सुगम यातायात एवं दुर्घटना में कमी लाने के लिये आवारा मवेशियों पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। निगम में उपलब्ध पांच काउ केचर से आवारा मवेशियों को लाकर मोपका गौठान में रखा जाता है। जुलाई से अब तक 18 हजार से अधिक जुर्माना मवेशी मालिकों से वसूल किया गया है। उन्होंने बताया कि सिरगिट्टी में भी गौठान बनाया जा रहा है, जहां उस क्षेत्र के आवारा मवेशियों को रखा जाएगा। मस्तूरी के विधायक डाॅ.कृष्णमूर्ति बांधी ने सड़क में घूमने वाले आवारा मवेशियों की टैगिंग कराने का सुझाव दिया। सड़क दुर्घटना को रोकने के लिये 57 जगहों पर जेब्रा क्रासिंग, 14 जगहों पर डिवाईडर निर्माण और 16 जगहों पर खुले डिवाईडर को बंद किया जाएगा। नर्मदा नगर चैक, अपोलो चैक और मगरपारा चैक में सड़क मार्किंग और टैªफिक सिग्नल लगाये जायेंगे।
बैठक में पीडब्ल्यूडी के अधिकारी ने बताया कि छतौना मोड़ पर ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित कर वहां चैड़ीकरण कराया गया है और एयरपोर्ट मार्ग मंे मोड़ पर बिजली के खंभे शिफ्टिंग के बाद चैड़ीकरण किया जाएगा। कलेक्टर ने बिजली विभाग के अधिकारी को खंभा शिफ्टिंग तत्काल करने के निर्देश दिये। सदस्यों द्वारा बिल्हा के पास बिलासपुर प्रवेश मार्ग को व्यवस्थित करने के संबंध में ध्यान आकृष्ट कराया गया। कलेक्टर ने इस पर शीघ्र कार्यवाही करने की बात कही।
सड़क दुर्घटना की स्थिति में पुलिस द्वारा एकत्र किये जाने वाले 59 बिंदुओं की जानकारी यातायात विभाग के द्वारा प्रस्तुत की गयी। माह जनवरी से अब तक 820 दुर्घटनाएं हुई है। जिनमें 262 व्यक्तियों की मृत्यु और 649 घायल हुए हैं। इस वर्ष जनवरी से अगस्त तक 16 ड्राईविंग लायसेंस निलंबित किया गया है। लाॅकडाउन की वजह से इस वर्ष दुर्घटनाओं में कमी हुई है। विधायक डाॅ.बांधी ने मस्तूरी क्षेत्र में सड़क दुर्घटना को रोकने के लिये विभिन्न सुझाव दिये। बैठक में यातायात जागरूकता पर जोर दिया गया। कलेक्टर ने जनप्रतिनिधियों को शामिल करते हुए यातायात जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिये। मंगला चैक में स्थापित पुलिस चैकी को स्थानांतरित करने के लिये जल्द कार्यवाही करने कहा गया। बिलासपुर से चकरभाठा एयरपोर्ट का रास्ता चकरभाठा बस्ती से होकर जाता है, जिसमें यातायात का दबाव ज्यादा है इसलिये एयरपोर्ट तक निर्बाध यातायात के लिये बाईपास हेतु प्रस्ताव भेजने का सुझाव सदस्यों ने दिया।
बैठक में बताया गया कि केन्द्रीय सड़क सुरक्षा समिति के मापदण्ड के अनुसार इस वर्ष जिले में नौ ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित किये गये हैं। मस्तूरी थाना अंतर्गत एनएच-49 में जयरामनगर मोड़ ग्राम मोहतरा, चकरभाठा थाना अंतर्गत एनएच-130 चैथना मोड़, सिरगिट्टी थाना अंतर्गत एनएच-130 में तिफरा ओवरब्रिज, रतनपुर थाना अंतर्गत एनएच-130ए में सकरी बाईपास और सांझीपारा बाईपास, सरकंडा थाना अंतर्गत एमडीआर मार्ग में महामाया चैक, मोपका चैक और बहतराई चैक में ब्लेकस्पाॅट चिन्हांकित है, जिनकी सतत् निगरानी एवं माॅनिटरिंग की जा रही है। इन स्थानों पर जहां दुर्घटना रोकने के लिये लोक निर्माण विभाग द्वारा कार्यवाही जारी है। छात्रों को आॅनलाईन पढ़ाई के साथ-साथ यातायात जागरूकता का प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। चिकित्सा विभाग द्वारा सड़क दुर्घटना में गंभीर घायलों के इलाज के लिये सिम्स में ट्रामा सेंटर स्थापित है। कलेक्टर ने बताया कि कोनी के निर्माणाधीन अस्पताल में भी नया ट्रामा सेंटर बनाया जा रहा है।
बैठक में कलेक्टर द्वारा सभी सड़क निर्माण से जुड़े विभागों को सड़क सुरक्षा मानकों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये। बिलासपुर से रायपुर मार्ग में गौरव पथ की ओर तथा व्यापार विहार परिक्षेत्र की ओर दो नये फ्लाईओवर की आवश्यकता का आंकलन कर शासन को प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया। सदर बाजार, गोल बाजार क्षेत्र में अत्यधिक यातायात दबाव को देखते हुए इन स्थानों में जुलूस, रैली आदि को प्रतिबंधित किये जाने की आवश्यकता बताई गई। कलेक्टर ने कहा कि इन क्षेत्रों में जुलूस, रैली आदि के आयोजन को हतोत्साहित किया जाएगा।
जिले में सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति की मदद और त्वरित चिकित्सा उपलब्ध कराने वाले 79 नेक व्यक्तियों (गुड सेमेरिटन) को सम्मानित किया गया है। कलेक्टर ने इस कार्य की सराहना की और आगे इसे सतत् जारी रखने के निर्देश दिये। सीपत मार्ग में ग्राम पंचायत लगरा में स्थापित यातायात पार्क के संचालन पर चर्चा की गयी और पार्क के रख-रखाव के लिये नगर निगम को जिम्मेदारी देने का सुझाव दिया गया।
बैठक में नगर निगम के महापौर श्री रामशरण यादव, मस्तूरी विधायक डाॅ.कृष्णमूर्ति बांधी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अरूण सिंह चैहान, बिल्हा एवं बेलतरा केेे विधायक प्रतिनिधि, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह ठाकुर, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री बी.एस.उईके, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात श्री रोहित बघेल, आरटीओ श्री प्रेमप्रकाश शर्मा, सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारी सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।